सारंडा में नक्सली साथियों का एनकाउंटर के विरोध में भाकपा माओबादी ने 10 जुलाई को बुलाया कोल्हान बंद


Chakradharpur : भाकपा माओवादी की दक्षिणी जोनल कमेटी ने 10 जुलाई को कोल्हान प्रमंडल बंद बुलाया है. दक्षिणी जोनल कमेटी की ओर से प्रेस रिलीज जारी कर कहा गया कि आपरेशन कगार के तहत झारखंड पुलिस और अर्द्धसैनिक बलों ने लोवादा में ऑपरेशन क्लीन चलाकर हमारे 6 साथियों को नरसंहार किया है. इसके खिलाफ 10 जुलाई को 24 घंटे का कोल्हान प्रमंडल बंद बुलाया गया है. भाकपा माओवादियों ने प्रेस विज्ञप्ति में कहा है कि 23 मई को लोवादा गांव के पास जंगल में कामरेड बुधराम सहित तीन सदस्यीय एक टीम की साथ पुलिस के साथ मुठभेड हो गई. मुठभेड़ में जब कामरेड बुधराम को पैर में गोली लगा तो वे चलने में असमर्थ हो गये.



 पुलिस कामरेड बुधराम को घायल अवस्था में पकड़ कर बर्बरता के साथ शारीरिक यातना देने के बाद सर मैं गोली मारकर उनकी हत्या कर दी और वे शहीद हो गये.भाकपा माओवादियों ने कहा कि दूसरी घटना, लिपुंगा की है। 17 जून, 2024 को भाकपा माओवादियों के दस्ते पर पुलिस और अर्धसैनिक बलों ने हमला कर उनके साथियों को बेरहमी से पकड़कर मार डाला. दक्षिणी जोनल कमेटी इन तमाम साथियों को नमन करती है.विज्ञप्ति में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी टिप्पणी की गई है. साफ तौर पर लिखा है कि जब से केंद्र में मोदी की सरकार आई है.


 तब से क्रांतिकारी आंदोलन को कुचल डालने की कोशिश की जा रही है. माओवादियों ने दावा किया गया है कि कोल्हान प्रमंडल के जंगल में रहने वाले आदिवासी मूलवासी जनता के ऊपर एक अघोषित युद्ध थोपा गया. पूरे वन क्षेत्र को युद्ध क्षेत्र में तब्दील कर दिया गया. हर गांव में एक से डेढ़ किलोमीटर की दूरी में अर्ध सैनिक बलों के कैंप को बनाया गया. जिससे यहां रहने वाले लोगों की जिंदगी नर्क में तब्दील हो गई. भारत पाकिस्तान के बॉर्डर पर की जाने वाली गोलीबारी कोल्हान के जंगलों में की जा रही है. 

इमरजेंसी सेवा बंद से यह मुक्त


 माओवादियों ने बंद में प्रेस की गाड़ियों, एंबुलेंस, दूध सप्लाई और हॉस्पीटल की इमरजेंसी सेवा को बंद से मुक्त रखा है.
Next Post Previous Post
No Comment
Add Comment
comment url

RECOMMENDATION VIDEO 🠟

NewsLite - Magazine & News Blogger Template