आदिवासी कन्या महाविद्यालय छात्रावास में एक माह से जलमीनार व चापाकल खराब, बाहर से पानी पीने को छात्राएं मजबूर,छात्रावास में पेयजल समस्या को दूर करने के लिए समाजसेवी डॉ विजय सिंह ने नगर परिषद कार्यपालक को सौंपा पत्र


Chakradharpur : चक्रधरपुर शहर के आदिवासी कन्या महाविद्यालय पुरानीबस्ती छात्रावास में रहने वाले छात्राओं के लिए एक सोलर जलमीनार व‌ एक चापाकल है. लेकिन रखरखाव के अभाव के कारण पिछले एक माह से जलमीनार व चापाकल खराब हो गया है. जलमीनार से पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया है. जलमीनार मैं लगे मोटर भी खराब है. जबकि चापाकल से गंदा पानी निकल रहा है. जिसके कारण छात्रावास में रहने वाले 41 छात्राएं छात्रावास से बाहर स्थित चापाकल से पानी लाकर भोजन तथा पीने के रूप में उपयोग कर रहे हैं. छात्राओं को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. छात्राओं ने समस्या के बारे में समाजसेवी डॉक्टर विजय सिंह गागराई को अवगत कराया. छात्रों की समस्या को देखते हुए सोमवार को श्री गागराई ने छात्राओं की एक प्रतिनिधि मंडल बनाकर चक्रधरपुर नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी से मुलाकात की और छात्रावास में उत्पन्न पेयजल की समस्या से अवगत कराया. साथ ही एक मांग पत्र सौंपा गया. छात्रावास में उत्पन्न पेयजल समस्या को देखते हुए आश्वासन देते हुए कार्यपालक पदाधिकारी राहुल कुमार यादव ने कहा कि तत्काल पानी टंकी की व्यवस्था कराकर समस्या का समाधान किया जाएगा. उन्होंने कहा कि जल्द ही मिस्त्री भेज कर चापाकल में हुई समस्या को दिखाया जाएगा. ताकि जल्द से जल्द चापाकल के मरम्मत किया जा सके. मौके पर राईमुनी हेंब्रम, शबनम मुंडारी, शकुंतला सरदार, आश्रिता दिग्गी, ममता सामड, रितिका सरदार, बसंती बांदिया, मनीषा हांसदा, सुमन गागराई, सुमित्रा दिग्गी, सविता बांकिरा, तनु मेलगांडी, किरण गागराई, मुन्नी बानसिंह, मुन्नी जारिका, सुशांति सामड, निर्मला सोय, ममता गागराई आदि छात्राएं मौजूद थीं.
Next Post Previous Post
No Comment
Add Comment
comment url

RECOMMENDATION VIDEO 🠟

NewsLite - Magazine & News Blogger Template